GEU Campus Top View

March

Consumer should be understood in order to make startups successful

Dehradun, 3rd March

Hari Balasubramaniam, a well-known angel investor in the country, said that before starting any startup we must understand our consumer. Hari Balasubramaniam was the keynote speaker at the Master class organized on the subject of Investor Readiness in Graphic Era today. Addressing the new entrepreneurs at the event organized by Technology Incubator Center, Mr. Subramaniam said that according to the figures, 50 out of 1000 startups only get successful. The main reason for the failures of the remaining startups is that the new entrepreneurs have to ignore the consumer behavior and love their startup idea more. 

Shri Balasubramaniam addressed the aspiring students in the field of entrepreneurship and talked about the processes related to commencing a new startup. He said that the documentation plays an important role in starting a new startupq which should be done thoughtfully and carefully. 

 

ग्राफिक एरा का हल्द्वानी को तोहफा

जुलाई से शुरू होंगे 17 कोर्स

ऑनलाईन कैरियर काउंसलिंग

देहरादून, 24 मार्च। ग्राफिक एरा ने हल्द्वानी में जुलाई, 2020 से यूनिवर्सिटी का नया परिसर शुरू करने की घोषणा की है। हल्द्वानी में बी. टेक कम्प्यूटर साईंस इंजीनियरिंग के साथ ही बीबीए, बीसीए, बी कॉम (ऑनर्स), होटल मैनेजमेंट और एमबीए समेत 17 कोर्स संचालित किए जाएंगे। नोवल कोरोना के मद्देनजर ग्राफिक एरा ने छात्र-छात्राओं की सुविधा के लिए ऑनलाईन कैरियर काउंसलिंग शुरू करने का भी निर्णय किया है।

ग्राफिक एरा ग्रुप के अध्यक्ष प्रोफेसर डॉ. कमल घनशाला ने बताया कि ग्राफिक एरा हिल यूनिवर्सिटी के हल्द्वानी कैम्पस में आगामी जुलाई से शिक्षण व्यवस्था शुरु कर दी जाएगी, इसके लिए प्रक्रिया आरम्भ कर दी गई है। हल्द्वानी में बी. टेक कम्प्यूटर साईंस इंजीनियरिंग, बी. टेक मैकेनिकल इंजीनियरिंग, बी. टेक इलेक्ट्रानिक एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग, बीबीए, बी कॉम ऑनर्स, बीसीए, बी एस-सी (आई टी), बीए ऑनर्स इंगलिश, बीए ऑनर्स इक्नोमिक्स, बीए ऑनर्स साइकोलॉजी, बीए जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन के कोर्स शुरु किए जाएंगे।

डॉ. घनशाला ने बताया कि इनके साथ ही होटल मैनेजमेंट के एक से चार साल तक के चार कोर्स, एमबी  और एमसीए की कक्षाएं भी जुलाई से हल्द्वानी में शुरू की जाएंगी। ये कोर्स शुरू करने के लिए अत्याधुनिक प्रयोगशालाएं बनाने के साथ ही बेहतरीन फैकल्टी की व्यवस्था की जाएगी।

उन्होंने बताया कि नोवल कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के साथ ही छात्र-छात्राओं को भविष्य की राह चुनने को विशेषज्ञों का मार्गदर्शन उपलब्ध कराने के लिए आयोजित किए जाने वाले कैरियर काउंसलिंग सेमिनार अब ऑनलाईन शुरू किए जाएंगे। इनसे कला, वाणिज्य और विज्ञान वर्ग के छात्र-छात्राओं को अपना कैरियर बनाने के लिए कोर्स और संस्थान का चयन करने में मदद मिलेगी। ग्राफिक एरा ने ऑनलाईन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

सादर प्रकाशनार्थ-----------------

सुभाष गुप्ता

निदेशक इंफ्रा.

9412998711

Graphic Era Prepared Sanitizer for Police Personnel

Dehradun, 25 March. In this hour of catastrophe, police personnel are risking their lives for saving human lives and are working day and night for saving humanity. Graphic Eraas a gesture of salute for all these heroes who are working relentlessly prepared sanitizer for them and handed over the same.
The Chemistry department team of Graphic Era Hill University under the supervision of Dr. Kapil Ghai prepared sanitizer, as per the standards of W.H.O with iso-propyl alcohol, hydrogen peroxide, glycerin, aloe vera gel, lemon grassand essentialoils. In the first phase today in the presence of S.P. City Shweta Chaubey, CO Clementown Anuj Kumar and S.O Clementown Narottam Bisht 25-liter sanitizer was handed over to the police at Asharodi Chowk and Chandrabani Chowk.During this occasion Vice Chancellor of Graphic Era Deemed University, Dr. Rakesh Kumar Sharma, Vice Chancellor of Graphic Era HillUniversity Dr. Sanjay Jasola along with Sahib Sablok, Anil Chauhan and BK Kaul were present.

Regards,
Dr Subhash Gupta

 

कोरोना से मुकाबले के लिए ग्राफिक एरा की पहल

गरीबों की मदद को खाद्यान्न की पहली खेप सौंपी

देहरादून, 28 मार्च। ग्राफिक एरा ने कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के सरकार के कार्यों में सहयोग के लिए 11 हजार किलोग्राम खाद्यान्न उपलब्ध कराने की घोषणा की है। इसकी शुरूआत आज ग्राफिक एरा मैनेजमेंट की वरिष्ठ पदाधिकारी श्रीमती राखी घनशाला ने प्रशासन की टीम को खाद्यान्न के पैकेट सौंपकर कर दी। पहली खेप के रूप  में आज करीब 2000 किलोग्राम खाद्य सामग्री प्रशासन के हवाले की गई।

ग्राफिक एरा ग्रुप के अध्यक्ष प्रोफेसर डॉ. कमल घनशाला ने कहा कि कोविड-19 की रोकथाम में सरकार और प्रशासन को हर मुमकिन सहयोग देने के लिए व्यवस्थाएं की जा रही हैं। आटा, चावल, दाल, तेल, नमक, मसाले आदि की व्यवस्था करके इस तरह की पैकिंग तैयार की गई है कि एक पैकेट सामान्य परिवार की एक सप्ताह की जरूरतें पूरी कर सके।

श्रीमती राखी घनशाला ने आज ग्राफिक एरा डीम्ड यूनिवर्सिटी परिसर में जिला प्रशासन की टीम को खाद्य सामग्री के 175 पैकेट सौंपे। इसके साथ ही क्लेमनटाऊन पुलिस को भी बेसहारा परिवारों की मदद के लिए करीब 275 किलोग्राम खाद्य सामग्री दी गई। राखी घनशाला ने आसपास रहने वाले मजदूरों के परिवारों को भी खाद्य सामग्री के पैकेट दिए।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की लॉक डाऊन की घोषणा को सफल बनाने और किसी को भूखा न सोने देने के लिए संस्थान अपने स्तर से लोगों को जागरूक करने के साथ खाद्यान्न पहुंचाने की व्यवस्था कर रहा है। ग्राफिक एरा की टीम जिला प्रशासन के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है और प्रशासन से मिलने वाली जरूरतों के अनुरूप खाद्यान्न के पैकेट तैयार कराये जा रहे हैं। इस मौके पर ग्राफिक एरा ग्रुप के मुख्य संरक्षक इंजीनियर आर. सी. घनशाला, ग्राफिक एरा हिल यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ. संजय जसोला, डॉ. सुभाष गुप्ता, डी.एस. रावत, बी. के कौल, अनिल चौहान, आदित्य अग्निहोत्री, निकेश जोशी भी मौजूद रहे।

सादर प्रकाशनार्थ—-----

डॉ सुभाष गुप्ता

निदेशक इंफ्रा.

9412998711

Website Developed for Showcasing the Changing Trends of Corona Virus around the World
Dehradun, 28 March. An IT Professional couple from Dehradun has developed a website acquainting about the recent updates of corona virus across the World. The website is imparting authentic information regarding every affected country of the World with latest updates on corona virus trends in the countries.
An IT Professional Sankalp Gupta working in London has created this website along with his better half Himanshi Mundeja. Through this website any person sitting at home can update himself with the latest trends of corona virus affecting various countries. The website has been created by the IT professional couple keeping in mind the objective of providing authentic information and for neutralizing the spread of rumors .Both Sankalp and Himanshi have done their B.Tech from Graphic Era University in 2010 and 2011 respectively and both are working in London. They say that these figures are not only statistics, but a warning that we all should be fully alert of the crisis that has knocked our doors. They also said that for fighting against this epidemic the best solution is to stay at home.
The data obtained for the website is from W.H.O and from government agencies of various Nations. Both these professionals have made such process that the increasing and decreasing number of corona virus patients are immediately getting reflected on the website. Sankalp Gupta Resident of Keshav Vihar is the son of Journalist and Professor Dr Subhash Gupta.
Link of the website: http://coronavirus.truelogical.net/

Regards,
Subhash Gupta

 

ग्राफिक एरा ने खाद्यान्न की दूसरी खेप सौंपी

देहरादून,  30 मार्च। लॉक डाऊन के दौरान किसी को भूखा न रहने देने के सरकार के अभियान में भागीदारी करने वाली संस्थाओं की संख्या लगातार बढ़ रही है। ग्राफिक एरा ने लॉक डाऊन से प्रभावित गरीबों के लिए आज खाद्यान्न को दूसरी खेप प्रशासन के सुपुर्द कर दी।

   आज दोपहर ग्राफिक एरा मैनेजमेंट की वरिष्ठ पदाधिकारी श्रीमती राखी घनशाला ने प्रशासन की टीम को खाद्यान्न के 209 पैकेट सौंपे। उन्होंने बताया कि करीब सवा दो हजार किलोग्राम के खाद्यान्न के इन पैकेटों में एक सामान्य परिवार की 8-10 दिन की जरूरतों के लिए आटा, चावल, दाल, तेल, नमक, मसाले आदि शामिल हैं। इससे पहले 28 मार्च को ग्राफिक एरा ने पहली खेप प्रशासन को सौंपी थी।

ग्राफिक एरा ग्रुप के अध्यक्ष प्रोफेसर डॉ. कमल घनशाला ने कहा कि नोवल कोरोना के संक्रमण से बचाव के लिए लॉक डाऊन को कामयाब बनाना बहुत आवश्यक है। कोरोना वायरस से व्यापक स्तर पर जनहानि रोकने के लिए इस दिशा में किए गए सांझा प्रयास, सफलता की गारंटी बन सकते हैं। उन्होंने कहा कि किसी को भूखा न रहने देने के सरकार के प्रयास उसकी संवेदनशीलता और मानवीयता को दर्शाते हैं और इन्हें सफल बनाने के लिए सबको अपनी जिम्मेदारी पूरी क्षमता से निभानी है। ग्राफिक एरा यह सिलसिला जारी रखेगा।

ग्राफिक एरा ने क्वारंटाइन के लिए सरकार को 60 कमरे उपलब्ध कराने के साथ ही लॉक डाऊन से छात्र-छात्राओं का नुकसान न होने देने के लिए ऑनलाईन क्लासों की व्यवस्था की है। एक हफ्ते से ग्राफिक एरा डीम्ड यूनीवर्सिटी और ग्राफिक एरा हिल यूनीवर्सिटी में प्रतिदिन ऑनलाईन कक्षाएं चलाई जा रही हैं। भारत के 25 राज्यों व छह केंद्र शासित राज्यों के साथ ही ब्राजील, नेपाल, यमन, मालावी, यूगांडा, अंगोला, लाइबेरिया, नाइजीरिया समेत नौ अन्य देशों के करीब 17 हजार छात्र छात्राओं को ऑनलाईन पढ़ाने की यह व्यवस्था काफी प्रभावी सिद्ध हो रही है। लॉकडाऊन के कारण छात्र-छात्राओं के घरों में रहने के कारण इन कक्षाओं में काफी अधिक उपस्थिति दर्ज हो रही है। इनके लिए अत्याधुनिक तकनीकें और सॉफ्टवेयर इस्तेमाल किए जा रहे हैं।

सादर प्रकाशनार्थ—-----

डॉ सुभाष गुप्ता

निदेशक इंफ्रा.

9412998711

Graphic Era Handed Over Second Batch of Food Grains

Dehradun, 30th March. The number of organizations participating in the government's campaign to not let anyone go hungry during the lock-down is increasing. Graphic Era handed over the second batch of food grains to the administration today for poor who are affected by the lockdown.

This afternoon, Smt. Rakhi Ghanshala, Senior Member of Graphic Era Management handed over 209 packets of food grains to the administration team. She told that these packets of food grains of about two and a quarter thousand kilograms include flour, rice, pulses, oil, salt, spices etc. for 8-10 days needs of a normal family. Earlier on March 28, Graphic Era submitted the first batch to the administration.

Professor Dr. Kamal Ghanshala, President Graphic Era Group, said that it is very important to make the lock down successful to prevent infection of Corona virus. Mutual efforts made in the direction for prevention from corona virus in order to save human lives can become a guarantee of success. He said that the government's efforts to not let anyone go hungry shows its sensitivity and humanism .For making government’s  steps successful, everyone has to fulfill their responsibilities with full potential. Graphic Era will continue this sequence.

Graphic Era has given its 60 rooms to the government for quarantine and has also made sure that students do not get affected during the lockdown so online classes are going on in Graphic Era Deemed University and Graphic Era Hill University from past one week and everyday online classes are going on. Teaching 17,000 students across nine other countries including Brazil, Nepal, Yemen, Malawi, Uganda, Angola, Liberia, Nigeria, along with 25 states and six union territories of India is proving very effective. Due to the lockdown, these classes are registering very high attendance as students are staying back in their homes. State-of-the-art technologies and software are being used for these online classes.

Thanks and Regards,

Dr Subhash Gupta

Director-Infra

9412998711